Sunday, December 30, 2018

नई किताब ‘झारखंड के आदिवासियों का संक्षिप्त इतिहास’

लेखक-पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता विनोद कुमार की नई किताब झारखंड के आदिवासियों का संक्षिप्त इतिहासशीघ्र आने वाली है। इस पुस्तक में कुल ग्यारह अध्याय हैं जिसमें झारखंड में आदिवासियों के प्रवेश से लेकर पत्थरगड़ी आंदोलन तक के कालखंड को समेटा गया है।

ये अध्याय हैं- कौन हैं आदिवासीझारखंड में अंग्रेजों का प्रवेशकोल विद्रोहसंथाल विद्रोहबिरसा विद्रोहआदिवासी राष्ट्रीयता बनाम झारखंड राज्यधनकटनी आंदोलनझारखंड बनाम लालखंडएमसीसी का प्रवेशझारखंड अलग राज्य का संघर्ष और अंततः झारखंड मगर खंडित।


इस पुस्तक के लेखक विनोद कुमार कहते हैं“जाहिर है इतने बड़े कालखंड को समेटने में बहुत कुछ छूटा होगा। कई कमिया रहेंगीलेकिन आप इसे पढ़ कर आदिवासी समाज की जीजीविषा और संघर्षपूर्ण इतिहास की एक झलक पा सकेंगेवर्तमान से अतीत की एकसूत्रता को देख सकेंगे और भविष्य की दिशा-दृष्टि बना सकेंगे।”

झारखण्ड के इतिहास पर केन्द्रित इस पुस्तक का प्रकाशक है ‘अनुज्ञा बुक्स’। पुस्तक अगले माह दिल्ली में आयोजित होने वाले पुस्तक मेले में यह पाठकों को उपलब्ध होगा।

उलगुलान टीम