Saturday, August 18, 2018

कालाबाजारी रोकने गए मानवाधिकार कार्यकर्ता को मिली जान से मारने की धमकी

कोडरमा: डोमचांच के सिंगलोडीह लक्ष्मी महिला मंडल  के गोदाम से हो रहे अनाज की कालाबाजारी को रोकने की बात करने पर मानव अधिकार कार्यकर्ता ओंकार विश्वकर्मा को नगर पंचायत डोमचांच के वार्ड नंबर 3 के वार्ड पार्षद गुड़िया देवी के पति राजेश साव ने छाती की हड्डी तोड़कर मारे जाने की धमकी दी। राजेश साव ने ओंकार को कहा कि बडा आया है मानवाधिकार वाला। यह मामला डोमचांच के सिंगलोडीह लक्ष्मी महिला मंडल के गोदाम से अनाज के कालाबाजारी करने का है। 

मानवाधिकार कार्यकर्ता ओंकार विश्वकर्मा
दिनांक 17 अगस्त को सुबह के 5 बजे ओंकार विश्वकर्मा जब घर से बाहर निकल रहे थे, तो देखा की राजेश साव द्वारा अपने मोटसाइकिल पर लक्ष्मी महिला मंडल के गोदाम से चावल ले जाया जा रहा है। इस पर ओंकार विश्वकर्मा द्वारा उन्हें कुछ भी नही बोला गया। न ही इस संबंध में किसी को कोई सूचना दी गई, बावजूद राजेश साव द्वारा ओंकार विश्वकर्मा के घर के दरवाजे पर जा कर राजेश साव द्वारा उन्हें समझाने का प्रयास किया। फोन द्वारा धमकी और काला बाजारी करने की बात भी रिकार्डेड है। उन्होंने खुलेआम कहा है कि हम कालाबाजारी करते हैं, दुनिया करती है। इसके अलावे उन्होंने यह भी कहा कि एमओ खुद कहे है कि कालाबाजारी करो, तो करते हैं।

इस घटना की सूचना पुलिस अधीक्षक कोडरमा डॉ. एम.  तमिलवणन को भी ओंकार विश्वकर्मा ने ई-मेल के माध्यम से दिया और उन्होंने  पुलिस अधीक्षक से उक्त मामले में प्राथमिकी दर्ज करते हुए कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। यह भी लिखा है कि इस घटना से उनकों जान का डर भी है। ओंकार विश्वकर्मा मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं और मानवाधिकार जन निगरानी समिति के सदस्य हैं।